buying medications online

हिल्सा माछेर सोरसे बाटा दिए झाल (सरसों ग्रेवी से हिलसा मछली)

 

सरसों फिश करी एक पारंपरिक प्रामाणिक बंगाली या पूर्व भारतीय व्यंजन है। बंगाली में इसे ” सोरसें बाटा दिए माछेर झाल ” कहा जाता है। यह बनाने के लिए बहुत आसान है। यह इलिशा ,कतला आदि मछली का उपयोग कर बनायी जा सकती है । मैंने इलिशा मछली का इस्तेमाल किया है। हिल्सा मछली बहुत ही स्वादिस्ट और बेशकीमती मछलीयों में से एक है। बंगाली इसे बहुत पसंद करते हैं ।
सरसों के बीज इस करी का सबसे महत्वपूर्ण घटक हैं। जो इस करी को बहुत ही अच्छी खुशबू देता है। इस परंपरागत रेसिपी को आप भी बनायें और गर्मागरम चावल साथ परोंसे ।

तैयारी का समय: 15 मिनट
खाना पकाने के समय: 20 मिनट

सामग्री:

  • इलिशा मछली – 5 मध्यम आकार के टुकड़े
  • सरसों के बीज – 1 बड़ा चम्मच
  • हल्दी पाउडर – 2 बड़े चम्मच
  • नमक स्वाद अनुसार
  • टमाटर (कटा हुआ) – 2

सरसों के पेस्ट के लिए:

  • सरसों के बीज – 1/2 कप
  • खसखस / पोस्तो दाना – 3/2 कप
  • हरी मिर्च – 4-5

विधि:

  • एक मोटी पेस्ट बनाने के लिए सरसों, हरी मिर्च और खसखस पीस लें। (इस पेस्ट को “शौरसे बाटा” बुलाया जाता है )
  • फ्राई मछली के टुकड़े की जरूरत पड़ेगी 🙂 (फ्राई मछली / माछ भाजा रेसिपी के लिए यहां क्लिक करें)
  • गर्म तेल में, सरसों के बीज डालें और सरसों चटकने तक तलें ।
  • अब सरसों पेस्ट डालें । सरसों के पेस्ट जब तल जाये तो हल्दी पाउडर, नमक, टमाटर डालें और 2-3 मिनट के लिए पकायें ।
  • अब ग्राइंडर में से शेष सरसों के पेस्ट में पानी डालकर उसे करी मैं डाल दें ।
  • अब तली हुई मछलियों को एक एक करके इस पेस्ट में डालें , और धीरे धीरे सरसों की गाडी ग्रैवी को मछलियों पर अलट पलट कर लपेट दें
  • अब 1 कप पानी डालें और 3-4 मिनट के लिए धीमी आंच में ग्रेवी पकायें और ढक कर 4-5 मिनट के लिए और पकाएं (मछली पहले से ही पक्की हुई है तो हमें करी को ज्यादा देर तक नहीं पकाना पड़ता हैं )
  • लौ बंद कर दें और ग्रेवी पर 1 बड़ा चम्मच कच्चे सरसों के तेल में डालिए ,यह करी को अच्छी सुगंध देगा ।
  • हमारी मस्टर्ड फिश तैयार हैं इसे गरमागरम चावल के साथ परोंसे

आपके दोस्तों के साथ शेयर करें

हमारे अन्य स्वदिस्ट व्यंजन